प्रदेश में चार धाम यात्रा कल से शुरू, शासन ने जारी की Sop, जानिए…

उत्तराखण्ड / सुमित यशकल्याण।

देहरादून। कल से प्रदेश में चारधाम यात्रा शुरू होने जा रही है। हाई कोर्ट नैनीताल के आदेश के बाद कल से शुरू होने जा रही चार धाम यात्रा को लेकर शासन ने आज SOP भी जारी कर दी है। चारधाम यात्रा के लिए जारी एसओपी के तहत चारधाम यात्रा के दौरान कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। यात्रा के दौरान कोविड वाहन क्षमता आधारित यात्रा का संचालन ही करेंगे, चारों धामों के प्रत्येक जिले में नियंत्रण कक्ष स्थापित होंगे, यहां पर यात्रियों का दैनिक रिकॉर्ड रखा जाएगा।

देहरादून में यात्रियों की सुविधा और मार्गदर्शन के लिए पर्यटन विभाग में कंट्रोल रूम स्थापित होगा। राज्य से बाहर से आने वाले यात्रियों को सिटी पोर्टल पर पंजीकरण कराना अनिवार्य होगा। राज्य में रहने वाले व्यक्तियों पर सिटी पोर्टल पर पंजीकरण अनिवार्य नहीं होगा। उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट के माध्यम से चारधाम मंदिर की यात्रा के लिए ई-पास जारी होंगे। यात्री कोविड-19 वैक्सीनेशन कि दोनों डोज लगने के 15 दिन बाद का प्रमाण पत्र या 72 घंटे पहले की Rtpcr की नेगेटिव रिपोर्ट के बाद ही यात्रा कर सकेंगे।

केरल, महाराष्ट्र एवं आंध्र प्रदेश से आने वाले यात्रियों के लिए दोनों डोज लगने के बाद भी 72 घंटे पहले की आरटी पीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट लाना अनिवार्य होगा। चारों धामों में प्रतिदिन निर्धारित यात्रियों को हुई मंदिर में दर्शन करने की अनुमति दी जाएगी। जिसके लिए यात्रियों की संख्या बद्रीनाथ में 1000 केदारनाथ में 800 गंगोत्री में 600 और यमुनोत्री में 400 प्रतिदिन रखी गई है मंदिर को दिन में तीन बार सैनिटाइजेशन किया जाएगा। मंदिरों में SOPका पालन कराने के लिए उप जिलाधिकारी को नोडल अधिकारी नामित किया गया है।

राज्य और जिलों में आपदा के कंट्रोल रूम बनेंगे, मंदिरों में प्रसाद चढ़ाने की अनुमति नहीं होगी, टीका भी नहीं लगाया जाएगा, इसके अलावा तप्तकुंडों में स्नान भी वर्जित रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *