हरिद्वार में बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं से नाराज़ व्यापारियों ने दी आंदोलन की चेतावनी, जानिए…

हरिद्वार / सुमित यशकल्याण।

हरिद्वार। सामाजिक कार्यकर्ता एवं महानगर व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष सुनील सेठी ने डीजी हेल्थ एवं मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर हरिद्वार की बेहाल स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने की मांग की। सेठी ने पत्र में लिखा कि आज-कल वायरल फीवर फैल रहा है रोगियों की संख्या बढ़ने पर सरकारी अस्पतालों पर कोई इंतजाम नही है, जिसकी वजह से रोगी प्राइवेट अस्पतालों पर महंगे इलाज को मजबूर हैं। हरिद्वार में सरकारी अस्पतालों की स्थिति किसी से छुपी नहीं है, ना तो अच्छे चिक्तिसक और ना ही कोई सुविधाजनक इंतजाम रोगियों के लिए है। एक मात्र मेला अस्पताल हरिद्वार की जनता के साथ धोखा है, यहाँ ना तो फिजिशयन मिलेगा न ही सर्जन अच्छे चिक्तिसक की अनुपस्थिति मरीजों को प्राइवेट अस्पतालों के चक्कर काटकर महंगे इलाज को दौड़ाती हैं, मशीनें धूल फांक रही हैं, जनता को सुविधाएं नहीं मिल पाती। अस्पतालों पर नियंत्रण ना होने एवं गैर जिम्मेदार प्रबंधन की वजह से रोगियों को भटकना पड़ता है एवं उनके साथ दुर्व्यवहार की शिकायतें भी लगातार मिलती रहती हैं, अभी कुछ दिन पूर्व मुफ़्त टेस्ट के नाम पर शुल्क लेने की शिकायतें भी प्राप्त हुई। डीजी हेल्थ एवं उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री से मांग है कि हरिद्वार की बेहाल स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाया जाए यहां की बिगड़ती व्यवस्थाएं जनता के साथ धोखा है अगर सरकार इन अस्पतालों को नही चला सकती और जनता को बेहतर इलाज नही दे सकती तो यह जनता के साथ अन्याय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *