ऋषिकुल सेंटर में शुक्रवार को 1289 लोगों को लगी कोरोना वैक्सीन, उत्तराखण्ड आयुर्वेद विश्वविद्यालय के कुलपति डॉक्टर सुनील जोशी ने की रेडक्रॉस सचिव डॉ. नरेश चौधरी की प्रशंसा…

हरिद्वार / सुमित यशकल्याण।

हरिद्वार। जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय के निर्देशन, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ.एस.के.झा के मुख्य संयोजन एवं वैक्सीनेशन सेंटर के नोडल अधिकारी/रेडक्रॉस सचिव डॉ. नरेश चौधरी के संयोेजन में जनपद हरिद्वार में कोविड-19 वैक्सीन लगाने का अभियान ऋषिकुल राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय में कोविड-19 वैक्सीन सेन्टर पर जोर-शोर से चल रहा है। जिसमे रोजाना कोविड-19 वैक्सीन सेन्टर पर इण्डियन रेडक्रॉस सचिव डॉ.नरेश चौधरी के नेतृत्व में रेडक्रॉस की टीम सक्रिय रूप से सहयोग कर रही है। इस समय ऋषिकुल सेंटर पर सभी आयु वर्ग के लाभार्थियों को वैक्सीन की प्रथम एवं द्वितीय डोज़ लगाई जा रही है। जिससे सभी आयु वर्ग के लाभार्थियों में विशेष उत्साह दिख रहा है। ऋषिकुल राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय वैक्सीन सेन्टर पर 800 लाभार्थियों के लिए वैक्सीन आरक्षित हुई थी जिसकी परिपेक्ष्य में सभी लाभार्थियों को स्वास्थ्य विभाग से अतिरिक्त वेक्सीन की व्यवस्था कर 1289 (बारह सौ नवासी) लाभार्थियों को वैक्सीन की प्रथम एवं द्वितीय डोज़ लगाकर कोरोना की वैश्विक महामारी से सुरक्षित किया गया।

वैक्सीनेशन सेंटर पर उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 सुनील कुमार जोशी ने स्वयं भी परिवार सहित वैक्सीन की द्वितीय डोज़ लगाकर वैक्सीनेशन सेन्टर का निरीक्षण भी किया एवं वैक्सीनेशन सेंटर पर कार्य कर रहे रेडक्रॉस स्वयं सेवकों के कार्यों की सराहना करते हुए हौसला अफजाई की। डाॅ.सुनील कुमार जोशी ने ऋषिकुल वैक्सीनेशन सेन्टर की व्यवस्थाओं के लिये सेंन्टर नोडल अधिकारी डॉ.नरेश चौधरी की विशेष सराहना करते हुए कहा कि प्रथम दिन से ही जबसे जनपद हरिद्वार में वैक्सीनेशन का कार्य प्रारम्भ हुआ है तब से लेकर आज तक डॉ. नरेश चौधरी और उनकी रेडक्रॉस टीम द्वारा वैक्सीनेशन कार्य में बढ़-चढ़कर सहयोग किया जा रहा है साथ ही साथ सम्पूर्ण कोरोना काल में डाॅ.नरेश चौधरी द्वारा विभिन्न दायित्वों का निर्वहन कर समर्पण भावना से जो उत्कृष्ट सेवा कार्य किये गये हैं उनके लिए उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय उनकी भूरी-भूरी प्रशंसा करता है।

डॉ.सुनील कुमार जोशी ने कहा कि कुंभ के फ्रंट लाइन वर्कस, पुलिस विभाग, अर्धसैनिक बल, पत्रकार, हेल्थ वर्कस, वरिष्ठ नागरिक, 45 वर्ष से ऊपर आयु वर्ग के लाभार्थी हजारों की संख्या में वैक्सीन लगवाने के लिए ऋषिकुल सेन्टर पर आते थे, तब भी ऋषिकुल वैक्सीनेशन सेन्टर की संपूर्ण व्यवस्था उत्कृष्ठ थी। लाभार्थी वैक्सीन लगवाने के उपरान्त संतुष्ठ एवं प्रसन्न होकर अपने घर जाते थे, जिसके लिये रेडक्राॅस की सराहना सम्पूर्ण जनमानस कर रहा है और अब 18 से 44 आयु वर्ग के लाभार्थियों को भी सुविधाएँ ऋषिकुल सेन्टर पर दी जा रही है उसकी भी सराहना जनसमाज में जगह-जगह हो रही है। जिससे के लिए ऋषिकुल राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय के साथ-साथ उत्तराखण्ड आयुर्वेद विश्वविद्यालय का भी गौरव बढ़ा हैै। कोविड-19 महामारी के मद्देनजर जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जो भी दायित्व डॉ.नरेश चौधरी को दिये गयें हैं। उनका अनुपालन डाॅ.नरेश चौधरी एवं उनकी समस्त टीम द्वारा बखूबी निर्वहन किया जा रहा है। इसके लिए डाॅ.नरेश चौधरी एवं उनकी टीम को उत्तराखण्ड आयुर्वेद विश्वविद्यालय विशेष रूप से सम्मानित करेगा। कुलपति डॉ. सुनील कुमार जोशी की धर्मपत्नी डॉ. मृदुला जोशी, पुत्र प्रांजल जोशी ने भी वैक्सीन की डोज़ लगवाई।

सेन्टर पर सहयोग करने वाले स्वयं सेवकों में विकास देसवाल, डॉ.अवधेश डंगवाल, डॉ.भावना जोशी, डॉ.अराधना, डॉ.गोपाल, डॉ.मोहर, डॉ.रितु, डॉ.ज्योति सेैनी, डॉ.उर्मिला पाण्डेय, गणेश आर्य, मोहित सैनी, राहुल खाली, तनवी गुसाईं, वैभव पाण्डेय, पूनम, दीप चन्द्र भट्ट, आराधना सिंह, अतिन बहुगुणा, भुवन जोशी, सतेन्द्र सिंह नेगी, संतोष कुमार, मनीष रावत, राजेश रतुडी, अंकित कुमार की सराहनीय भूमिका रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *