हरिद्वार में हुई डेंगू से मौत के बाद व्यापारियों में आक्रोश, जानिए…

हरिद्वार / सुमित यशकल्याण।

हरिद्वार। सामाजिक कार्यकर्ता और महानगर व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष सुनील सेठी के नेतृत्व में खड़खड़ी में व्यापारियों ने डेंगू से हुई मौत पर आक्रोश जताते हुए नगर निगम एवं स्वास्थ्य विभाग की लचर प्रणाली को जिम्मेदार बताया। सुनील सेठी ने कहा कि नगर निगम डेंगू की रोकथाम को सिर्फ फ़ोटो सेशन तक ही सीमित है। समय रहते धरातल पर कोई ठोस कार्य निगम द्वारा नही किये गए, निगम सिर्फ जनता पर अतिरिक्त कर लगाने एवं अव्यवस्थाओं तक ही सीमित रह गया, जिसके कारण आज शहर भर में डेंगू फैल रहा है। निगम के स्वयं स्थल पर खाली पड़े कूड़ेदान निगम की कार्यप्रणाली को बता रहे हैं, जिसमें बारिश में पानी जमा रहता है, जो निगम अपने प्रांगण की सफाई व्यवस्था में फेल हो वो डेंगू से निपटने के लिए कितना कार्य कर रहा होगा जनता को बताने की जरूरत नहीं। सेठी ने कहा कि वहीं दूसरी तरफ स्वास्थ्य विभाग कुम्भकर्णी नींद में सोया हुआ है जो डेंगू के डंक को रोकने के लिए शहर-जिले में कोई जागरूकता अभियान कोई डोर टू डोर अभियान चलाने में असफल रहा एवं हरिद्वार में अस्पतालों में जो इलाज डेंगू के नाम पर मरीजों को मिलता है वो भी नाकाफी है, जिसकी वजह से हर वर्ष डेंगू का डंक हरिद्वारवासियों को भारी पड़ता है। अब भी गैर जिम्मेदार विभाग कुम्भकर्णी नींद में सोए हुए हैं, डेंगू के बचाव को समय रहते अब भी कोई ठोस कार्य नही हो रहे। अगर जल्द जिम्मेदार विभाग नही जागे तो विभागों के बाहर धरना दिया जाएगा।

विरोध जताने वालों में मुख्य रूप से महानगर अध्यक्ष जितेंद्र चौरसिया, महामंत्री नाथीराम सैनी, खड़खडेश्वर व्यापार मंडल अध्यक्ष राजेश सुखीजा, सोनू सुखीजा, विनोद कुमार, कृष्ण प्रजापति, धर्मपाल प्रजापति, एस.एन. तिवारी, सतीश कुमार, गिरीश चंद, योगेश अरोड़ा, बंटी कुमार, कुँवरपाल, गणेश शर्मा, मनीष धीमान, राजेश शर्मा, भूदेव शर्मा, दीपक मेहता, राजू सेठी, शोभित कुमार, अमित कुमार उपस्थित रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *