कैलाशानंद ब्रह्मचारी बने कैलाशानंद गिरी, पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी में हुए शामिल, आचार्य महामंडलेश्वर पद पर होंगे आसीन

हरिद्वार/ सुमित यशकल्याण

हरिद्वार। दक्षिण काली मंदिर के पीठाधीश्वर स्वामी कैलाशानंद ब्रह्मचारी को पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी का आचार्य महामंडलेश्वर बनाया जा रहा है ।जिसको लेकर उन्होंने अग्नि अखाड़ा छोड़ दिया है वे निरंजनी अखाड़ा में शामिल हो गए हैं ।देर शाम कनखल के जगदगुरु आश्रम में स्वामी राजराजेश्वरानंद महाराज ,अखाड़ा परिषद के महामंत्री हरिगिरि महाराज, श्री महंत रविंद्र पुरी ,श्रीमहंत राम रतन गिरी सहित अखाड़े के पदाधिकारियों और साधु संतों की मौजूदगी में उनका मुंडन संस्कार कराकर उन्हें अखाड़े की परंपराओं के अनुसार निरंजनी अखाड़े में शामिल कराया गया।

आज से कैलाशानंद ब्रह्मचारी, कैलाशानंद गिरी के नाम से जाने जाएंगे, 14 जनवरी मकर सक्रांति के दिन आचार्य महामंडलेश्वर पद पर कैलाशानंद गिरी का पट्टा अभिषेक किया जाएगा। आचार्य महामंडलेश्वर बनाए जाने की सूचना से उनके देश विदेश में लाखों अनुयायियों में खुशी की लहर है, आज कैलाशानंद गिरी महाराज का जन्मदिन है और करोना काल मे सूक्ष्म रूप से कनखल स्थित आश्रम में उनका जन्मदिन भी मनाया जाए। उनके भक्त सोशल मीडिया पर लगातार उन्हें शुभकामनाएं संदेश प्रेषित कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!