कर्मचारियों ने काली फीती लगाकर किया कार्य बहिष्कार, कारण जानिए…

हरिद्वार / सुमित यशकल्याण।

हरिद्वार। चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ चिकित्सा स्वास्थ्य सेवाएँ उत्तराखंड के आह्वान पर प्रदेश के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों ने प्रथम चरण के अंतिम दिवस काली फीती लगाकर कार्य बहिष्कार किया। द्वितीय चरण में संगठन के पदाधिकारी मंत्री और विधायक को ज्ञापन दिया जाएगा।
प्रदेश अध्यक्ष दिनेश लखेड़ा, प्रदेश उपाध्यक्ष नेलसन अरोड़ा, दीपक धवन, प्रवक्ता शिवनारायण सिंह, सलाहकार रमेश पंत ने कहा कि चतुर्थ श्रेणी कर्मियों की मांगों पर निदेशालय और विश्वविद्यालय ध्यान नहीं दे रहा है पदोन्नति नही की जा रही है और ना ही कर्मचारियों के कार्य अन्य चतुर्थ श्रेणी कर्मियों से भिन्न होने के बाद भी उद्यान विभाग के माली की भांति टेक्निकल नही किया जा रहा है जो कि महानिदेशालय और विश्वविद्यालय का अन्याय पूर्ण रवैया है, जिसका पूर्ण विरोध किया जाएगा। कर्मचारी अपनी न्यायोचित मांग मिलने से पहले आंदोलन नही रोकेंगे बल्कि और उग्र आंदोलन करेंगे।
प्रदेश महामंत्री सुनील अधिकारी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष गिरीश पंत, उपशाखा अध्यक्ष ऋषिकुल छत्रपाल, मंत्री जयनारायण सिंह, आयुर्वेद यूनानी अध्यक्ष बिजेंद्र पाल, मंत्री जीत सिंह आदि ने कहा कि 20 जुलाई से 24 जुलाई तक मंत्री, विधायक जी प्रदेश के जनपदों में ज्ञापन देकर अपनी पीड़ा से अवगत कराएंगे। तथा 26 जुलाई 27 जुलाई को उपस्थिति लगाकर दो घंटे का कार्य बहिष्कार कर धरना-प्रदर्शन किया जाएगा, कर्मचारियों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है जो कभी भी उग्र रूप धारण कर सकता है।
काली फीती बांधकर विरोध करने वालों में शिवनारायण सिंह, छत्रपाल सिंह, जयनारायण सिंह, दीपक धवन, अवनीश, पवन, कमल, आशुतोष, कामेंद्र, अरुण, ताजबर सिंह, रमेश पंत, दुर्गा, राकेश भँवर, राजेन्द्र तेश्वर, मूलचंद चौधरी, शीशपाल, खुशाल मणि, नाथी, नितिन, राजकिशोर, अनिल, नीलम, मिथलेश, मुन्नी देवी, अनिता, ममता, अजय रानी, इत्यादि ने विरोध प्रकट किया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *