मामला निपटाने के लिये पुलिस के बड़े अधिकारी के नाम पर मांगे साढ़े 6 लाख रु,मुकदमा दर्ज

हरिद्वार/ तुषार गुप्ता

हरिद्वार में दिल्ली के एक युवक जो गंगा में डूबा था उसके दोस्तों से एडीजी लॉयन ऑर्डर के नाम पर पैसे वसूलने का शहर कोतवाली में मामला आया है ।इस पर मामले की जांच करते हुए हरिद्वार शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया है।

पुलिस ने बताया की 14 अगस्त को दिल्ली के रजोकोरी गांव से 4 युवक हरिद्वार गंगा नहाने आए थे। चार युवकों में से बंसीराम नामक एक युवक डूब गया। बंसीराम के तीन दोस्तों ने उसकी जान बचाने की बहुत कोशिश की लेकिन वह डूब गया।

बंसी राम के तीनों दोस्त पुलिस को सूचना देने के बजाए आरोप के डर से घबरा कर घर लौट गए। अगले दिन मृतक का शव मिलने से हादसे का परिवार वालों को पता चला। जिसके बाद युवक के परिवार वालों ने उसके 3 दोस्तों पर हत्या का शक जताया। लेकिन हरिद्वार आने पर पोस्टमार्टम रिपोर्ट और सीसीटीवी कैमरे की फुटेज दिखाई तो परिवार का शक दूर हो गया और तीनों दोस्तों को क्लीन चिट मिल गई। इस मामले में तीनों दोस्तों के एक परिचित व्यक्ति बृजेश ने पुलिस की क्लीन चिट का फायदा उठाने के लिए साजिश रची।

जिसके तहत उसने तीनों दोस्तों को डरा कर बताया कि पुलिस को पैसे देकर ही मामला रफा-दफा होगा। आरोप है कि उन तीनों को श्यामपुर क्षेत्र के बैकुंठ धाम आश्रम बुलाकर पैसे की मांग की । बृजेश और मृतक के तीनों दोस्तों को बताया कि एडीजी लॉ एंड ऑर्डर नीलेश आनंद भरणे के हस्तक्षेप पर उन्हें बचाया जा रहा है। लेकिन इसके लिए उन्हें साढ़े 6 लाख देने होंगे। तीनों ने डर के मारे उन्हें 12–12 हजार रुपए दे दिए और बाकी के बाद में देने का वादा किया। दिल्ली जाकर इनमें से एक दोस्त को जब बृजेश और उसके साथियों पर शक हुआ तब उसने हरिद्वार आकर शहर कोतवाल अमरजीत सिंह को अपनी आप बीती बताई। पुलिस ने आरोपित बृजेश ,उर्मिला और उसके एक अन्य साथी निवासी रजोकोरी, दिल्ली के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है । सीओ सिटी अभय प्रताप सिंह ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है और सारे आरोपी अभी फरार चल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *