मेल आईजी संजय गुंज्याल की सराहनीय पहल, गंगा में डूब रहे युवक को बचाने वाले तीन युवकों को किया सम्मानित, जानिए पूरा मामला

सुमित यशकल्याण

हरिद्वार। कुम्भ मेला आईजी संजय गुंज्याल द्वारा कल एक व्यक्ति को डूबने से बचाने वाले नोजवान को सम्मानित किया गया। दरअसल कल दोपहर के समय कांगड़ा दीप घाट के पास एक व्यक्ति पैर फिसलने से गंगा जी मे गिर गया और गंगा जी के प्रवाह के साथ बहने लगा, तैरना न आने के कारण यह व्यक्ति डूबने की स्थिति में आ गया और बचाओ, बचाओ की पुकार लगाने लगा। गंगा किनारे बैठे तीन नवयुवकों राज, करन और रमेश के कानों में उस डूबते व्यक्ति की चींख पुकार पड़ी तो उनके द्वारा समय गंवाये बिना देवदूत बन कर डूबने वाले व्यक्ति को बचाने के लिए गंगा जी मे कूद गए। काफी मशक्कत के बाद उक्त तीनों के द्वारा उक्त व्यक्ति को बचाने में सफल हो गए और उसे खींच कर किनारे पर ले आये।

मौत के मुह से बच कर वापस आये उस व्यक्ति ने अपना नाम सोमांश पुत्र ओम प्रकाश, उम्र 24, निवासी शास्त्रि नगर, सहारनुर, उ०प्र० बताया और अपनी जान बचाने वाले देवदूतों को कोटि-कोटि नमन व धन्यवाद देने लगा। पूरा घटनाक्रम देखने-सुनने वाले लोग भी इन तीनो नोजवानों के साहस और नेक काम की सराहना करते नही थक रहे थे।

मेला कंट्रोल रूम के द्वारा इन तीनो नवयुवकों के जीवनदायिनी काम के बारे में जब आईजी कुम्भ संजय गुंज्याल को सूचित गया तो उन्होंने तत्काल इन तीनो लड़कों को सम्मानित करने का आदेश दिया।

आईजी कुम्भ के आदेश के अनुसार आज इन तीनो नवयुवकों को आईजी कुम्भ कार्यालय में आमंत्रित किया गया जहां आईजी कुम्भ महोदय के द्वारा इन तीनो लड़कों को उनके परोपकारी कार्य के लिए पुष्पगुच्छ देकर ओर शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया।

आईजी कुम्भ के द्वारा इन तीनों नवयुवकों को कुम्भ मेला अवधि के दौरान संविदा पर गोताखोरी के कार्य के लिए विशेष पुलिस अधिकारी नियुक्त कर SPO का पहचान पत्र भी दिया गया। आईजी कुम्भ द्वारा कहा गया की ऐसे हिम्मती और परोपकारी नोजवान हमारे असली हीरो हैं, जो आजकल की युवा पीढ़ी के लिए प्रेरणास्रोत बन सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *