विश्व कल्याण और करोना महामारी से निजात दिलाने के लिए महामृत्युंजय यंत्र की स्थापना : स्वामी रूपेंद्र प्रकाश।

हरिद्वार / सुमित यशकल्याण।

***प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम में महामृत्युंजय यंत्र स्थापना कार्यक्रम संपन्न
*** पूरे सावन माह चला महामृत्युंजय यंत्र का पूजा अर्चना कार्यक्रम

हरिद्वार। वैदिक मंत्रोचार और हवन पूजन के साथ श्री प्राचीन अवधूत मंडल आश्रम में महामृत्युंजय यंत्र स्थापना कार्यक्रम संपन्न हुआ। पूरे सावन माह तक चले कार्यक्रम में प्रतिदिन रुद्राभिषेक और हवन पूजन अलग अलग यजमानों के साथ किया गया। जिसमें प्रत्येक सोमवार को यंत्र की विशेष पूजा अर्चना की गई।

इस मौके पर महामंडलेश्वर स्वामी रूपेंद्र प्रकाश महाराज ने कहा कि पूरे विश्व को करोना महामारी से निजात दिलाने की कामना से महामृत्युंजय यंत्र की स्थापना की गई है। हरिद्वार में ये पहला यंत्र स्थापित किया गया है। हरिद्वार आने वाले श्रद्धालुओं को यंत्र का दर्शन करने मात्र से आरोग्यता की प्राप्ति होगी।

हरे राम आश्रम के पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर स्वामी कपिल मुनि महाराज ने कहा कि महामृत्युंजय यंत्र की पूजा करने से एकादश रुद्र लिंग की पूजा के समान फल प्राप्त होता है। महामंडलेश्वर स्वामी संतोषानंद देव जी महाराज ने कहा कि मृत्यु पर विजय प्राप्त करने वाले यंत्र महामृत्युंजय यंत्र का दर्शन करने मात्र से ही ही लोगों के सभी रोग शोक दूर होंगे इसमें तनिक भी संशय नहीं है। महामंडलेश्वर स्वामी प्रेमामानंद महाराज ने कहा कि स्वामी रूपेंद्र प्रकाश का आभार व्यक्त करते हैं क्योंकि उन्होंने जन कल्याण की कामना से हरिद्वार में एक अद्भुत महामृत्युंजय यंत्र की स्थापना की है। हिसार से पधारे महामृत्युंजय यंत्र के प्रणेता एवं महामृत्युंजय चालीसा के रचीयता स्वामी सहजानंद हरिद्वार में वर्ष में हजारों अस्थियों का विसर्जन किया जाता है। कई अस्थियां ऐसे लोगों की होती है। जिनकी अकाल मृत्यु होती हैं। ऐसे लोगों की आत्मा को शांति नहीं मिलती और ये भटकती रहती हैं जिससे हरिद्वार में नकारात्मक प्रभाव बढ़ रहा है। महामृत्युंजय यंत्र स्थापित होने से हरिद्वार की नकारात्मकता कम होगी। सकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव होगा। कार्यक्रम के अंत में कन्या पूजन एवं संतो के लिए भंडारे का आयोजन किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *