हरिद्वार के जननायक हुए पंचतत्व में विलीन, बेटी ने दी मुखाग्नि, देखें वीडियो

हरिद्वार / सुमित यशकल्याण।

हरिद्वार में भाई जी के नाम से विख्यात पूर्व विधायक व कांग्रेसी नेता अम्बरीष कुमार का मंगलवार रात को निधन हो गया है। उनके निधन से उनके चाहने वालों को बहुत बड़ा झटका लगा है। उत्तराखंड कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह हरिद्वार पहुंचे और अपनी संवेदनाएँ व्यक्त की। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक सहित हरिद्वार सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने भी अपनी संवेदनाएं व्यक्त कर इसे राजीनीति पर गहरा आघात बताया है। अम्बरीष कुमार के राजनीतिक जीवन का एक लंबा इतिहास रहा है, अपने साथियों के लिए मर मिटने वाले अम्बरीष कुमार उत्तर प्रदेश विधानसभा मे सर्वश्रेष्ठ विधायक का पुरुस्कार भी प्राप्त कर चुके हैं, अमरीश कुमार 2019 के लोकसभा चुनाव में भी हरिद्वार लोकसभा सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़े थे। पूर्व विधायक काफी समय से बीमार चल रहे थे और लगभग दो महीने अस्पताल में भी भर्ती रह चुके थे। देर रात उन्होंने अंतिम सांस ली। आज उनका अंतिम संस्कार कनखल शमशान भूमि पर किया गया, जहां उनकी बेटी ने उन्हें मुखाग्नि दी। इस दौरान कांग्रेस समेत अन्य दलों के नेताओं ने भी उनके निधन पर गहरा शोक प्रकट किया है।

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और मौजूदा सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक को चुनौती देने वाले कांग्रेसी नेता अम्बरीष कुमार 50 साल से राजनीति में सक्रिय थे। सत्तर साल से ज़्यादा उम्र के अम्बरीष कुमार आठ बार चुनाव लड़ चुके हैं। हरिद्वार में उनकी राजनीतिक ज़मीन कितनी मजबूत रही है, यह इससे पता चलता है कि आठ में से 06 चुनावों में दूसरे नंबर पर रहे। कांग्रेस से शुरू हुआ उनका राजनीतिक सफ़र जनता दल और समाजवादी पार्टी होते हुए फिर से उन्हें कांग्रेस में ले आया। हरीश रावत के बाद वह उत्तराखंड कांग्रेस के ऐसे दूसरे नेता हैं जिन्होंने इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और राहुल गांधी तीनों के नेतृत्व में चुनाव लड़ा है। हरिद्वार के कपड़ा व्यापारी परिवार में जन्मे अम्बरीष कुमार ने 1971 में तभी कांग्रेस को जॉइन किया था जब पूरे देश में इंदिरा गांधी से प्रभावित होकर नौजवानों ने कांग्रेस का हाथ थामा था। सालभर के भीतर ही 1972 में वे हरिद्वार के यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष बने। कांग्रेस के प्रति झुकाव उन्हें परिवार से विरासत में मिला था। प्रीतम सिंह द्वारा भी नम आंखों से उन्हें श्रद्धांजलि दी गई उन्होंने अम्बरीष कुमार के इस तरह चले जाने को कांग्रेस के लिए अपूर्णीय क्षति बताया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *