कुम्भ मेले में अव्यवस्थाओं को लेकर नाराज हुए शंकराचार्य ,प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को दिया 5 दिन का समय, देखें वीडियो

सुमित यशकल्याण

शंकराचार्य निश्चलानंद चेतावनी।

हरिद्वार। धर्मनगरी हरिद्वार में धर्मध्वजा औऱ पहले शाही स्नान से कुंभ की अखाड़ों द्वारा शुरुआत की जा चुकी है, लेकिन मेला प्रशासन की व्यवस्थाओं को लेकर संतों की नाराजगी लगातार देखने को मिल रही है। आज भूमि आवंटन को लेकर गोवर्धन पीठ के जगदगुरू पूरी शंकराचार्य निश्चलानंद ने केंद्र और राज्य सरकार को भूमि आवंटन के लिए 05 दिन का समय दिया है। सोशल मीडिया पर जारी अपने वीडियो संदेश में उन्होंने ऐसा ना होने पर इसके परिणाम के लिए तैयार रहने को कहा है।

– शंकराचार्य ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने संदेश के माध्यम से अपील की है कि हरिद्वार में इस समय महाकुंभ चल रहा है, जिसमें धर्मध्वजा और प्रथम शाही स्नान भी सम्पन हो चुका है लेकिन उसके बावजूद भी शंकराचार्य शासन तंत्र से पूर्ण उपेक्षित हैं, अब तक मेला प्रशासन की ओर से भूमि आवंटन करने का कार्य शुरू नहीं किया गया है। आपके राज में ही यह सब हो रहा है अगर इस समस्या का हल नहीं किया गया तो हम संकेत करेंगे कि आप लोग शासन के योग्य नहीं हैं, उन्होंने कुम्भ का इतिहास बताते हुए कहा कि इतिहास में भी नागा सन्यासी और संतों का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। एक और कुंभ मेला शुरू हो चुका है उसके बावजूद भी अब तक उचित भूमि देने का प्रकल्प भी शुरू नहीं किया गया है। इस तरह आपके राज्य में हमारी उपेक्षा हो रही है मेरी आपसे विनती है कि आप अपने मुख्यमंत्री और मंत्रियों को आदेश करें कि वह 05 दिन में हमें हरिद्वार में महाकुंभ के लिए भूमि आवंटित करने का कार्य करें अन्यथा इसका परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहें।

गोवर्धन पीठ, जगद्गुरू पूरी शंकराचार्य निश्चलानंद।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!