शांतिकुंज प्रमुख डॉ. प्रणव पंड्या ने ₹11000 का चेक और शॉल ओढ़ाकर किया समाजसेवी भूपेंद्र कुमार को सम्मानित, जानिए…

हरिद्वार / सुमित यशकल्याण।


हरिद्वार। कोरोना काल में की गई समाजसेवा के लिए समाजसेवी भूपेंद्र कुमार को शांतिकुंज प्रमुख डॉ. प्रणव पंडया ने 11 हजार रुपये का चेक देकर एवं शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया। सम्मान के लिए उन्होंने शांतिकुंज का आभार जताया। सबसे बड़ी बात उन्होंने ईनाम में मिली धनराशि को रामकृष्ण मिशन अस्पताल कनखल को दान कर दी।
शांतिकुंज के प्रमुख डॉ. प्रणव पंड्या ने उनके कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि मानव जीवन समाजसेवा के लिए हुआ है, जिसने भी उसका पालन किया है वे हमेशा तरक्की की राह पर चले हैं। उन्होंने अन्य लोगों को भी भूपेंद्र कुमार से प्रेरणा लेकर समाजसेवा के कार्य करने को आह्वान किया।
समाजसेवा में हरिद्वार के सुप्रसिद्ध चेहरे में शुमार कनखल निवासी भूपेंद्र कुमार ने कोरोना कार्यकाल में निरंतर समाजसेवा की। उन्होंने राशन वितरण के साथ सभी तरह से लोगों की मदद की। इस बार कोरोना कार्यकाल में लोगों की जान गई तो उन्होंने अज्ञात शवों के साथ निराश्रित शवों का अपने खर्चे से विधि विधान से अंतिम संस्कार करवाए। उन्होंने पशुओं का भी अंतिम संस्कार कराया। भूपेन्द्र कुमार ने कोरोना काल में 20 शवों का अंतिम संस्कार कराया। वे निराश्रित शवों के लिए पूरे साल लकड़ी आदि निशुल्क उपलब्ध करा रहे हैं। वे पांच साल से इस कार्य को कर रहे हैं। भूपेंद्र कुमार ने कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीनेशन के लिए अपने खर्चे से वैक्सीन कार भी चलवाई। जिससे घरों में पहुंचकर ऐसे लोगों को वैक्सीन लगवाई जोकि केंद्रों पर नहीं आ सकते थे। अब उन्हें शांतिकुंज के प्रमुख डॉ. प्रणव पंडया ने सम्मानित किया तो सम्मान से गदगद हो गए। उन्होंने कहा कि समाजसेवा का काम उनका निरंतर जारी रहेगा।

इस मौके पर कनखल श्मशान घाट से हरिओम अनेजा, खडखड़ी श्मशान घाट समिति के सह मंत्री दुर्गेश पंजवानी, मुंशी गोपाल, सेवक राजेंद्र ठाकुर ने भूपेंद्र कुमार के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि जब अपने ही लोग परिजनों के अंतिम संस्कार में शामिल तक नहीं हो रहे थे, उस समय भूपेंद्र ने जान जोखिम में डालकर अज्ञात शवों का अंतिम संस्कार स्वयं मौजूद रहकर कराया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *