ज्योतिर्मठ की ‘आपदा सेवालय 1008’टीम ने तपोवन आपदा क्षेत्र में दी आर्थिक मदद

सुमित यशकल्याण

हरिद्वार। ज्योतिर्मठ के पूज्यपाद जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती जी महाराज के निर्देश पर ‘आपदा सेवालय 1008’ की ज्योतिर्मठ टीम ने रैणी तपोवन आपदा प्रभावित पीड़ितों के परिजनों को आर्थिक सहायता दी। आपदा सेवालय की ओर से जोशीमठ विकासखंड के 33 प्रभावित पीड़ित परिजनों को यथासंभव आर्थिक सहायता उपलब्ध करायी जा रही है। दूसरे चरण में पीड़ितों के बच्चों को रोजगार उपलब्ध कराने के प्रयास किए जाएंगे।

ज्योतिष्पीठ के पूज्यपाद शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के शिष्य प्रतिनिधि स्वामिश्रीः अविमुक्तेश्वरानन्द: सरस्वती ने बताया कि रैणी तपोवन क्षेत्र के आपदा प्रभावित पीड़ित परिजनों को ‘आपदा सेवालय 1008’ की ओर से सरकारी या बीमा राशि के न मिलने की स्थिति में जरूरी घरखर्च के लिये 1 माह के लिए यथा उचित आर्थिक सहायता वितरित गई है । उन्होंने कहा कि आपदा सेवालय 1008 भविष्य में भी पीड़ित परिजनों को यथासंभव सहायता उपलब्ध कराता रहेगा । उन्होंने बताया कि आर्थिक सहायता के अलावा यदि प्रभावित पीड़ित परिजनों का कोई बेरोजगार युवक-युवती ,उत्तराखंड या इससे बाहरी राज्यों में रोजगार करना चाहते हैं तो उसके लिए रोजगार भी उपलब्ध कराने के प्रयास किए जाएंगे।
स्वामिश्रीः अविमुक्तेश्वरानन्दः सरस्वती ने बताया कि इसी क्रम में सोमवार व मंगलवार को सेवालय की ज्योतिर्मठ टीम ने तपोवन, ढाक, बड़ागांव, रिंगी, कर्छों , भर्की गांवों के आपदा से प्रभावित पीड़ितों के परिजनों आर्थिक सहायता दी गई। सेवालय की ओर से ब्रह्मचारी श्रवणानंद, शैलेश महाराज ,शिवानंद, प्रवीन नौटियाल , महिमानंद उनियाल , डा विजय शर्मा, अजीत पाल रावत, अभिषेक बहुगुणा शामिल थे।

ज्योतिर्मठ सूचना सेवालय प्रमुख श्री बृजेश सती द्वारा जारी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!