श्रीचंद्र भगवान की मूर्ति को लेकर बड़ा अखाड़ा उदासीन के संत मेला प्रशासन से नाराज, आरपार की लड़ाई शुरू

हरिद्वार/ सुमित यशकल्याण

हरिद्वार के व्यस्ततम चौराहों में से एक रानीपुर मोड़ स्थित चंद्राचार्य चौक पर भगवान श्री चंद्र की मूर्ति हटाने के बाद धरने पर बैठे संतो को मनाने के लिए आज मेला अधिकारी दीपक रावत पहुंचे। हम आपको बता दें कि हरिद्वार में होने वाले कुंभ से पहले 16 चौराहों का सौंदर्यीकरण कराया जा रहा है। जिसके तहत 4 दिन पूर्व रातों-रात चौराहे से भगवान श्री चंद्र की प्रतिमा हटा दी गई थी…जिसके बाद बड़ा उदासीन अखाड़ा के संत नाराज होकर धरने पर बैठ गए थे। बड़ा उदासीन अखाड़ा के संतों का कहना था कि भगवान श्री चंद्र उनके इष्ट देव है और यह सीधे-सीधे उनके इष्ट देव का अपमान है। लिहाजा चौराहे पर तुरंत भगवान श्री चंद्र की मूर्ति लगवाई जाए और मूर्ति अखाड़े को बिना विश्वास में लिए किन परिस्थितियों में हटाई गई इसकी भी उच्चस्तरीय जांच की जाए। मौके पर पहुंचे जिलाधिकारी दीपक रावत ने संतों को मनाने की कोशिश की और आश्वासन दिया कि जल्द ही भगवान श्री चंद की प्रतिमा यहां पर लगाई जाएगी। यही नहीं किन परिस्थितियों में रातों-रात मूर्ति हटाई गई इसकी भी उच्च स्तरीय जांच कराई जाएगी। जिसके बाद संतों का गुस्सा शांत हुआ हालांकि संतो ने भव्य प्रतिमा लगवाए जाने तक मौके पर डटे रहने की और भविष्य में ऐसा ना होने की भी चेतावनी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!