बड़ी खबर,कांग्रेस की वरिष्ठ नेत्री, दोनों बेटों समेत छह के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज,जानिये पूरा मामला

सुमित यशकल्याण

कांग्रेस नेत्री पूनम भगत की पुत्रवधू की संदिग्ध मौत के मामले में पुलिस ने पूनम भगत और उनके दो बेटों समेत छह लोगों के विरुद्ध दहेज हत्या के आरोप में मुकदमा दर्ज किया है । अभी मृतका के पति को हिरासत में लिया हुआ है शेष अन्य की गिरफ्तारी के भी प्रयास किए जाएंगे,
पूनम भगत की नवविवाहित पुत्रवधू याशिका गौतम की बुधवार की दोपहर बाद संदिग्ध परिस्थितियों में मृत्यु हो गई थी। परिजनों का आरोप है कि दहेज के लिए प्रताड़ित कर रहे ससुराल वालों ने उसकी हत्या की है। विशेष बात यह है कि यासिका गौतम की शादी पूनम भगत के बेटे भगत के साथ विगत 9 दिसंबर को ही संपन्न हुई थी। यासिका की मौत के बाद पूरे क्षेत्र में मातम और आक्रोश का माहौल है।


पोस्टमार्टम के बाद याशिका के शव का अंतिम संस्कार गुरुवार को किया गया। मृतका के पिता महेंद्र गौतम की ओर से इस मामले में कांग्रेस की प्रदेश सचिव पूनम भगत उनके बेटे और अपने दामाद शिवम भगत शिवम के भाई सौभाग्य भगत बहन शिवांगी पाराशर बहनोई अमन पाराशर तथा शिवम के एक मित्र कार्तिक वशिष्ठ के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कराते हुए आरोप लगाया कि शादी के बाद से ही यशिका को लगातार ऑडी कार की मांग करते हुए प्रताड़ित किया जा रहा था। मृतका के पिता का कहना है कि उन्होंने शादी में 40 लाख रुपए खर्च किए थे इसके बावजूद ससुराल पक्ष संतुष्ट नहीं हुआ और लगातार याशिका को मारपीट कर प्रताड़ित किया जा रहा था। मुकदमा दर्ज कराते हुए यह भी आरोप लगाया गया है कि विगत 31 दिसंबर को पूनम भगत और शिवम भगत आदि ने दहेज की मांग पूरी न होने पर मारपीट कर याशिका को घर से निकाल दिया था। ज्यादा तबीयत खराब होने पर उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था लेकिन बाद में शिवम भगत और उसके परिजनों द्वारा क्षमा याचना करने पर याशिका को दोबारा ससुराल भेज दिया गया था ।
आरोप लगाया गया कि अब उसकी हत्या कर दी गई है। कोतवाली प्रभारी प्रवीण सिंह कोश्यारी ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी गई है । शिवम भगत को पुलिस ने हिरासत में लिया हुआ है तथा अन्य की तलाश की जा रही है ।। इस हाईप्रोफाइल मामले को लेकर शहर में तरह-तरह की चर्चाओं का माहौल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!