कुम्भ नगरी में शाही ठाट बाट के साथ निकली महानिर्वाणी अखाड़े की पेशवाई, देखें दिव्य और अद्भुत वीडियो

सुमित यशकल्याण

हरिद्वार। श्री पंचायती अखाडा महानिर्वाणी की पेशवाई आज दक्ष मंदिर कनखल के प्रांगण से भव्य रूप में आरम्भ हुई। पेशवाई में अखाड़े से जुड़े 50 से ज्यादा महामंडलेश्वर शामिल हुए तथा महिला दिवस के अवसर पर महिलाओं क़ो सम्मान देते हुए महामंडलेश्वर पद पर विभुषित किया गया। इस पेशावाई का आकर्षण जहाँ विभिन्न कार्यक्रम, नागा साधु रहे वहीं विदेश से आये भक्तों ने भी हिस्सा लिया।

आज महानिर्वाणी अखाड़े की पेशवाई भव्य स्वरूप में श्री दक्षेश्वर महादेव मंदिर से प्राम्भ हुई। पेशवाई नगर भ्रमण के बाद बंगाली मोड़ स्थित महानिर्वाणी की छावनी में सम्पन्न होगी। महानिर्वाणी अखाड़े की पेशवाई के संबंध में अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रविंदर पूरी ने बताया कि आज निकलने वाली पेशवाई भव्य और दिव्यता लिए होने के साथ-साथ महिला दिवस के अवसर पर संदेश देती नजर आएगी। महानिर्वाणी अखाड़ा ही एक ऐसा अखाड़ा है जिसने सर्वप्रथम महिला महामंडलेश्वर बनाई थी। वहीं महानिर्वाणी अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर विशोकानन्द भारती जी महाराज ने बताया कि समुद्र मंथन के समय जहां-जहां अमृत कलश रखा गया वहां-वहां कुम्भ होता है। उन्होंने बताया कि यह विश्व की ही नहीं अपितु ब्रह्मांड की परंपरा है। वहीं आचार्य महामंडलेश्व विश्वेश्वरानंद जी महाराज ने भी बताया कि आज पूरी गरिमा, सादगी और भव्यता के साथ सभी महामंडलेश्वरों के साथ छावनी में प्रवेश करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!