प्रदेश में पुलिसकर्मियों के ग्रेड पे को लेकर अधिवक्ता अरुण भदोरिया की विशेष अपील और आश्वासन, पढ़िए

सुमित यशकल्याण

अपील अरुण भदौरिया


मेरे सभी साथियों , भाइयों मुझे समाचार पत्रों के माध्यम से व पोर्टल समाचारों से जानकारी मिली की पूरे भारत में अनुशासन के मामले में कार्य करने में नंबर वन है। अभी हाल में ही हमारे उत्तराखंड में भाजपा के नए मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी जी,बने है जिनके द्वारा शपथ ग्रहण के तुरंत बाद आप लोगों के ग्रेड पे को लेकर गंभीरता दिखाते हुए एक कैबिनेट की बैठक भी आयोजित की गई जिसमें ग्रेड पे के संबंध में जल्दी से जल्दी कार्रवाई हो ,और आप लोगों को ग्रेड पे 4600 ही मिले इस संबंध में उत्तराखंड राज्य के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी श्री अभिनव कुमार जी एडीजीपी, आईजी श्री संजय गुंज्याल जी जिनके बारे में आप सभी जानते हैं कि उनकी कार्य शैली क्या है इस संबंध में डीजीपी साहब अत्यंत गंभीर है, आपकी इस समस्या को लेकर पुलिस मुख्यालय की यह तीनों अधिकारी माननीय मुख्यमंत्री जी से भी इस संबंध में वार्ता कर चुके हैं जो सकारात्मक है।आपकी ग्रेड पे वाली जो भी समस्या है आप मुझ पर भी विश्वास रखो हालांकि मैं एक एडवोकेट हूं लेकिन मैं आपके साथ एक छोटे भाई बड़े भाई के नाते साथ हूं और आपकी इस लड़ाई में अगर आंदोलन नाम की चीज ना हो तो बहुत अच्छा रहेगा क्योंकि आंदोलन तब करना चाहिए जब कोई आपकी बात को सुन ना रहा हो ,आपकी बात को मान ना रहा हो ,आपकी बात को गंभीरता से ना देख रहा हो ,

उत्तराखंड शासन और पुलिस मुख्यालय आपकी बात को अत्यंत गंभीरता से ले रहे हैं आप पूर्ण विश्वास बनाए रखें आज उत्तराखंड पुलिस की जो इमेज पूरे भारत में है उस पर धब्बा ना लगने दें, यदि आपके या आपके परिवार के द्वारा कोई शासन के व पुलिस मुख्यालय व शासन के खिलाफ आंदोलन होता है तो उससे पूरे भारत में उत्तराखंड पुलिस की कार्यशैली पर धब्बा लगेगा आपको ध्यान होगा कि माननीय मुख्यमंत्री जी श्री पुष्कर धामी जी के द्वारा मुख्यमंत्री बनने से पहले ही पूर्व मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत जी को भी इस संबंध में एक पत्र लिखा गया था मेरे द्वारा भी माननीय मुख्यमंत्री जी को पत्र लिखा हुआ है और इसी कारण माननीय मुख्यमंत्री जी श्री पुष्कर धामी जी अत्यंत गंभीर है आपके इस मुद्दे को लेकर। आप सभी से मैं अपील करता हूं कि आप यह आंदोलन जो 25 तारीख में मैंने सुना है करने की योजना है मत करिए अगर पुलिस पुलिस मुख्यालय या शासन पर आपको विश्वास नहीं है या आपको लगता है कि मुख्यमंत्री जी और पुलिस मुख्यालय इस मुद्दे को लेकर गंभीर नहीं है आपके इस मुद्दे को लेकर कोई योजना नहीं बना रहे हैं या कोई मीटिंग नहीं कर रहे हैं तो आदमी कुछ भी कर सकता है परंतु जब शासन और पुलिस मुख्यालय आपकी हर बात मानने व मनवाने के लिए दबाव पूरा दिए हुए हैं तो मेरा मानना है कि आपका आंदोलन 25 तारीख का पूरी तरह से गलत है आप इस आंदोलन को मत करिए मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि निश्चित रूप से ग्रेड पे की समस्या आपकी समाप्त होगी ,पर आंदोलन करने से पूरे भारत में उत्तराखंड पुलिस की छवि खराब होगी और वह छवि कभी नहीं धूल आंदोलन ना करें पाएगी ,आंदोलन ना करें ,अपने परिवार में माता बहन व पत्नी को सब को इस बारे में बताएं कि हमारे बारे में हमारे अधिकारी हमारे मुख्यमंत्री जी पूरे गंभीर हैं और आपकी समस्या निश्चित रूप से दूर होगी ,मैंने आपसे एक बार पहले भी अपील की थी कि मैं आपकी 8 घंटे ड्यूटी की लड़ाई लडूंगा,जिसके लिए माननीय उच्च न्यायालय उत्तराखंड द्वारा मेरी बात को स्वीकार करते हुए आपकी 8 घंटे की ड्यूटी को किए जाने के लिए स्वीकार भी किया गया ,जो सुप्रीम कोर्ट में पेंडिंग है बहुत जल्दी आपको उस संबंध में भी खुशखबरी मिलेगी यह मेरा आपसे वादा है


जय हिंद जय भारत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *