इस बार विधायक देशराज कर्णवाल को सबक सिखाएगी क्षेत्र की जनता -अरुण भदौरिया…

हरिद्वार / सुमित यशकल्याण।

हरिद्वार। मंगलौर कोतवाली में पुलिस और बीजेपी के बीच हुए विवाद की निंदा करते हुए पुलिस वेलफेयर के लिए काम करने वाले हरिद्वार के वरिष्ठ अधिवक्ता अरुण भदौरिया का कहना है कि इस सारे प्रकरण के लिये विधायक देशराज कर्णवाल पूर्ण रूप से जिम्मेदार है। उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ-साथ भाजपा पार्टी की भी छवि गिराई और इसके लिए वह खुद जिम्मेदार हैं। विधायक देशराज कर्णवाल ठगी के आरोप में गिरफ्तार आरोपी को विधायकी के दम पर और सत्ता की हनक में बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ जबरन छुड़वाने थाने गए और उनकी मौजूदगी में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने वहां पर धरना प्रदर्शन किया, कॉविड गाइडलाइन का भी उल्लघंन किया और एक ईमानदार पुलिस अधिकारी पर रिश्वत लेने का आरोप भी जड़ दिया, परंतु ईमानदार अधिकारी ने जब उनकी नहीं सुनी तो मामले को तूल दे दिया और ईमानदार अधिकारी पर झूठे आरोप लगाए गए और बाद में मुख्यमंत्री जी के पास जाकर झूठे तथ्य बताकर ईमानदार अधिकारी का स्थानांतरण कराया जो आने वाले समय में भाजपा को झबरेड़ा विधायक को बहुत महंगा साबित होगा।

पिछले दिनों इन्हीं विधायक महोदय ने थाना झबरेड़ा में भक्तों वाली गांव के भाजपा के ही कार्यकर्ताओं के साथ अभद्रता की, जब वहां के लोगों ने भाजपा में वोट दिए जाने की बाबत विधायक जी से पूछा कि आपके द्वारा गांव में क्या विकास किया है जो आम जनता का अधिकार भी है जिस पर विधायक जी अभद्रता करने लगे तो भाजपा कार्यकर्ताओं ने ही कहा कि कमरे में लठ रखा है तुम्हारा यहां वोट मांगने मत आना और इस बार चुनावो में गांव मे नही घुसने दिया जायेगा। जिससे साफ है कि भाजपा विधायक झबरेड़ा की छवि अपने क्षेत्र में बिल्कुल खत्म हो चुकी है।

मंगलोर थाना प्रकरण से भाजपा की छवि इन विधायक महोदय द्वारा खराब और खत्म कर दी गई है। उन्होंने विधायक पर अपनी विधायकी का दुरुपयोग करते हुए एक ईमानदार अधिकारी को थाने में घुसकर अपनी गलत कार्यशैली से पुलिस का मनोबल गिराया, फिर सत्ता की हनक में पहले उसका ट्रांसफर रुड़की और बाद में मुख्यमंत्री पर दबाव डालकर उसका ट्रांसफर पुलिस हेड क्वार्टर कराए जाने की निंदा करते हुए अरुण भदौरिया ने कहा है कि इस बार क्षेत्र की जनता इस विधायक को जरूर सबक सिखाएगी।

वही झबरेड़ा विधानसभा क्षेत्र के लोगों में भी विधायक की कार्यशैली को लेकर रोष दिखाई दे रहा है, गांव कोटवाल आलमपुर निवासी एहसान और झबरेड़ा निवासी विनेश जैन और रमेश चौधरी ने कहा है कि विधायक द्वारा क्षेत्र में कोई विकास नहीं किया गया है और आए दिन विधायक जी अपनी कार्यशैली की वजह से चर्चा में रहते हैं, पहले एक बीजेपी विधायक के साथ भी उनकी अनर्गल बयानबाजी चर्चाओं में रही जिससे इस विधायक के कारण ही जनपद हरिद्वार मे भाजपा की छवी खराब हुई थी, उसके बाद गांव भक्तोवाली के लोगों ने जब उनसे विकास कार्यों के बारे में पूछा तो विधायक ने उनके खिलाफ एससी एसटी का मुकदमा दर्ज कराया था और अब एक बार फिर अपनी हनक के चलते एक ईमानदार पुलिस अधिकारी का ट्रांसफर करा दिया है विधायक जी अपनी हनक में चूर ओरों की गलती निकालते घूम रहे हैं लेकिन अपने गिरेबान में झांकने को बिल्कुल तैयार नहीं है जिसको लेकर क्षेत्र की जनता में काफी रोष है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *